भाजपा में फिर ताकतवर बने सत्यनारायण जटिया

संसदीय बोर्ड और केंद्रीय चुनाव समिति में जगह मिली

उज्जैन, अग्निपथ। भाजपा में लंबे वक्त से हाशिए पर चल रहे उज्जैन के कद्दावर भाजपा नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री डा. सत्यनारायण जटिया राजनैतिक रूप से फिर से ताकतवर बन गए है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी. नड्डा ने डा. जटिया को केंद्रीय संसदीय बोर्ड और चुनाव समिति का सदस्य बनाया है। केंद्रीय संसदीय बोर्ड भाजपा संगठन की सबसे शीर्ष कडी है।

लगभग 25 साल तक संसद में उज्जैन का प्रतिनिधित्व करने वाले डा. सत्यनारायण जटिया राज्यसभा का कार्यकाल समाप्त होने के बाद से ही लगभग हाशिए पर थे। पिछले 8 साल से केंद्र में भाजपा की सरकार है लेकिन पूर्व केंद्रीय मंत्री डा.जटिया को संगठन और सरकार में कोई अहम जिम्मेदारी नहीं मिल पाई थी। अब एकाएक उन्हें दो सबसे अहम समितियों में शामिल कर लिया गया है।

केंद्रीय संसदीय बोर्ड में कुल 11 सदस्य है। राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी. नड्?डा संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, बी.एस. येदयुरप्पा, सर्वानंद सोनोवाल, के.लक्ष्मण, इकबाल सिंह लालपुरा, सुधा यादव, सत्यनारायण जटिया और बी.एल. संतोष इसके सदस्य है। संसदीय बोर्ड भाजपा की सबसे सशक्त और सर्वोच्च समिति है।

कोविंद, गेहलोत से खाली हुई थी जगह

केंद्रीय चुनाव समिति या संसदीय बोर्ड में अमूमन क्षेत्र या वर्ग समीकरण को साधने का प्रयास किया जाता है। भाजपा में पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और राज्यपाल थावरचंद गेहलोत दो बड़े दलित नेताओं के रूप में संसदीय बोर्ड में इस वर्ग का प्रतिनिधत्व करते रहे। अब दोनों ही राजनीति की मुख्यधारा से दूर हो गए है। दलित वर्ग से बड़ा और अनुभवी चेहरा डा. जटिया के मुकाबले अन्य कोई फिलहाल नहीं है, यहीं वजह है कि भाजपा ने दोनों अहम समितियों में उन्हें स्थान दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

महाकाल मंदिर में हुए हुड़दंग के लिए प्रशासक को नोटिस

Wed Aug 17 , 2022
मंदिर के दो सहायक प्रशासक और एक कर्मचारी से भी मांगा जवाब उज्जैन, अग्निपथ। महाकाल मंदिर में करीब एक सप्ताह पहले भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष के आगमन के दौरान युवा मोर्चा कार्यकतार्ओ ने नंदी हाल में घुसकर हुड़दंग मचाया था। यह मामला मीडिया के माध्यम से राष्ट्रीय […]