चांदी गेट पर ठोकर लगने की बात को लेकर भक्तों के बीच मारपीट

1500 की टिकट सुबह 9.30 बजे की बंद, विवाद के बाद व्यवस्था बदली

उज्जैन, अग्निपथ। विश्व प्रसिद्ध श्री महाकालेश्वर मंदिर में 1500 की टिकट से दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं के बीच हाथापाई हो गई। मामला आगे निकलने के चक्कर में एक के बुजुर्ग को ठोकर लगना सामने आया है। भीड़ के दबाव के चलते केएसएस कंपनी के सुरक्षाकर्मियों से यहां की व्यवस्था संभाली नहीं जा रही है। हालांकि विवाद के बाद श्रद्धालुओं को प्रवेश करवाने की व्यवस्था बदल दी गई है।

महाकालेश्वर मंदिर में महाकाल मंदिर में गर्भगृह में दर्शन करने के नाम मंदिर समिति 1500 रुपए में दो श्रद्धालुओं के लिए अनुमति देती है। लेकिन अब रोजाना श्रद्धालुओं को अनलिमिटेड टिकट बांटी जा रही है। जिसके चलते रोजाना विवाद हो रहे है। सोमवार सुबह रसीद कटाने के बाद सभा मंडपम में खड़े श्रद्धालु गर्भगृह में जाने के लिए इन्तजार कर ही रहे थे। इस दौरान कुछ श्रद्धालु आगे आकर चांदी गेट तक पहुंचने का प्रयास करने लगे। इस दौरान इनमें से एक श्रद्धालु की ठोकर वृद्ध को लग गई। इससे आहत बुजुर्ग द्वारा मारपीट शुरू कर दी गई। दोनों पक्ष के श्रद्धालु इससे आमने सामने हो गये। एक दूसरे पर गिरते हुए बेरिकेट पर गिर गए। किसी तरह से वहां पर खड़े मंदिर कर्मचारियों और सुरक्षाकर्मियों नेे दोनों पक्षों के लोगों को अलग-अलग किया।

भीड़ नहीं इसके बावजूद विवाद

सोमवार होने के कारण आज भगवान महाकाल की शाही सवारी निकाला जाना थी। लिहाजा 1500 रु. जलाभिषेक टिकट आम श्रद्धालुओं के लिये सुबह 9.30 बजे बंद कर दिये गये थे। जिसके चलते सामान्य रूप से भीड़ का दबाव रहा। इसके बावजूद पंडे पुजारियों के यजमान भी बड़ी संख्या में सभामंडप में आकर लाइन में लग गये थे। जिसके चलते सभामंडप के रैंप से लेकर चांदी गेट तक बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं का जमावड़ा लग गया था।

श्रद्धालुओं को मैनेज नहीं कर पाये

सभामंडप में भीड़ मैनेज करने के लिये क्यूआरटी टीम के दो कर्मचारी प्रवेश गेट पर लगे हुए हैं। वहीं पीछे की भीड़ का मैनेज करने के लिये कम संख्या में सुरक्षाकर्मी लगाये गये थे। हालांकि वहां पर भीड़ का मैनेज करने के प्रयास सुरक्षाकर्मियों किये तो लेकर भीड़ थी कि मान नहीं रही थी। सभी आगे निकलने का प्रयास करते भीड़ में देखे गये। सभामंडप के एंड रैंप पर भी भीड़ आगे निकलने के चक्कर में विवाद करती दिखाई दे रही थी।

अनलिमिटेड लेेकिन सोमवार सुबह से बंद

प्रतिदिन महाकालेश्वर मंदिर में भगवान का जलाभिषेक करने वाले श्रद्धालुओं की भारी भीड़ 1500 रु. का टिकट लेकर विश्रामधाम से लाइन में लगती है। पिछले तीन से चार दिन से बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं का जमावड़ा विश्रामधाम में लगा रहा था। लेकिन सोमवार को तो मंदिर प्रशासन ने सवारी निकाले जाने के दौरान सभामंडप खाली मिले इसलिये सुबह 9.30 बजे अनलिमिटेड टिकट काटे जाना बंद कर दिया था। ऐसे में पंडे पुजारियों के यजमान लाइन में लगे हुए थे।

बेरिकेड्स के बीच एक-एक निकलेंगे

इस तरह के विवादों से निपटने के लिये सभामंडप में लाइन चलाने के तरीके में बदलाव किया गया है। मंगलवार से बेरिकेड्स के बीच एक-एक श्रद्धालु को छोड़ा जायेगा। इससे एक जगह पर श्रद्धालुओं का जमावड़ा नहीं हो पायेगा। वहीं जानकारी लगी है कि दो सुरक्षाकर्मी भी यहां पर बढ़ा दिये गये हैं। श्रद्धालु बेरिकेडस के बीच गेप अधिक होने का फायदा उठाते हुए प्रवेश कर जाते हैं। एकसाथ तीन से चार लोगों की लाइन लग जाती है। जिसके चलते श्रद्धालु आपस में विवाद कर बैठते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

आटो से भिड़ी इको वैन, फोटोग्राफर की मौत

Mon Nov 21 , 2022
कार्तिक मेला जा रहा था मृतक परिवार उज्जैन, अग्निपथ। इंदौर से आया फोटोग्राफर बच्चों और ससुराल पक्ष के साथ आटो से कार्तिक मेला देखने जा रहा था। पीछे से आई वैन ने टक्कर मार दी। दुर्घटना में फोटोग्राफर की मौत हो गई। 2 बच्चे घायल हुए हैं। जीवाजीगंज थाना पुलिस […]