चुनाव प्रचार में पैसे बांटते दिखे मंत्री मोहन यादव

कांग्रेस ने चुनाव आयोग से की कार्रवाई की मांग

भोपाल। मप्र के 19 नगरीय निकायों में चुनाव हो रहे हैं। आगामी 20 जनवरी को इन निकायों में मतदान होना है। निकाय चुनाव के प्रचार में धार पहुंचे उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव की तस्वीर सोशल मीडिया में वायरल हुई। इस फोटो में मंत्री मोहन यादव पैसे देते नजर आ रहे हैं। मप्र कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष केके मिश्रा ने इस फोटो को शेयर करते हुए राज्य निर्वाचन आयोग से कार्रवाई की मांग की है।

मंत्री के अधिकारिक सोशल मीडिया पर शेयर हुए फोटो ने मचाया बवाल

उच्च शिक्षा मंत्री डॉ.मोहन यादव ने सोमवार रात एक पोस्ट सोशल मीडिया पर शेयर की। मोहन यादव धार में नगरीय निकाय चुनाव के वार्ड 24 में भाजपा प्रत्याशी घनश्याम पाल के लिए वोट मांगने पहुंचे थे। चुनाव प्रचार की फोटो मंत्री के अधिकारिक फेसबुक अकाउंट पर शेयर हुई। इसमें एक महिला मंत्री को तिलक लगा रही है और मंत्री आपने हाथ में पर्स और पांच सौ के नोट लिए दिख रहे हैं। मंत्री के अधिकारिक सोशल मीडिया पर फोटो शेयर होने के बाद बवाल मच गया।

कांग्रेस की मांग, कार्रवाई करे चुनाव आयोग

कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष केके मिश्रा ने ट्वीट करते हुए लिखा राज्य निर्वाचन आयोग, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी, क्या प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव के द्वारा उनके ही अधिकारिक ट्विटर हेंडिल से पोस्ट की गई तस्वीर पर कोई कार्रवाई करेगा क्या? जिसमें वो धार जिले में पार्टी के प्रत्याशी के प्रचार में मतदाताओं को नोट बांटते दिख रहे हैं।

हंगामे के बाद मंत्री की सफाई, दक्षिणा दे रहा था

कांग्रेस ने जब मंत्री की नोट बांटती तस्वीरों को लेकर निर्वाचन आयोग से कार्रवाई की मांग की और हंगामा बढऩे लगा तो उच्च शिक्षा मंत्री ने इस मामले पर सफाई दी। भोपाल में पत्रकारों से चर्चा में मंत्री ने कहा- मैं मंदिर गया था। धार में मेरी बहन पुजारी हैं। क्या महिला का पुजारी होना अपराध है?, क्या मेरा मंदिर जाना अपराध है? क्या दक्षिणा देना अपराध है। कांग्रेस को इस प्रकार की हल्की राजनीति से बचना चाहिए। कांग्रेस का पतन ही इसी प्रकार की राजनीति के कारण हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

कैद से लौटी युवती, इंदौर से रतलाम ले गए दलाल, फिर शाजापुर में शादी करवा दी

Tue Jan 17 , 2023
इंदौर, अग्निपथ। दलालों और सहेलियों के षड्यंत्र से दो लाख रुपए में बेच दी गई आदिवासी युवती ने कैद से बाहर आते ही रोते-रोते अपनी आपबीती सुनाई। उसने बताया, बाहर निकलने के इंतजार में एक-एक दिन गुजार रही थी, लेकिन 100 दिन बाद भी आजादी नहीं मिली। रोंगटे खड़े कर […]