धाकड़ की विदाई का सही कारण किसी को नहीं मालुम

उज्जैन, अग्निपथ। विश्व प्रसिद्ध श्री महाकालेश्वर मंदिर में पहली बार बिना प्रशासनिक अधिकारी को बैठाए बगैर नियुक्ति पाने वाले पूर्व प्रशासक गणेश कुमार धाकड़ का तबादला होने के बाद मीडिया सहित सभी अपने अपने स्तर पर उनको पदच्यूत होने की कहानी गढ़ रहे हैं। लेकिन किसी को भी सही तरह से नहीं मालूम कि उनको आखिरकार क्यों हटाया गया है?

महाकालेश्वर मंदिर में बुधवार को जब से पूर्व प्रशासक गणेश कुमार धाकड़ के तबादले की खबर सोशल मीडिया पर चली तभी से सभी अपने अपने स्तर पर उनके हटने की वजह अपने स्तर पर खोजकर बताने की कोशिश कर रहे हैं। कई का कहना है कि कर्मचारियों का आपसी विवाद उनके जाने का कारण बना तो कई धर्म और संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर के रिश्तेदारों को भस्मारती में तवज्जो नहीं दिए जाने को कारण बता रहे हैं।

कई ने तो युवा मोर्चा मामला, विश्व हिन्दू परिषद कार्यकर्ता की पिटाई मामले से भी उनका तबादला जोड़ दिया। कई ने तो कलेक्टर से उनकी पटरी नहीं बैठना भी एक कारण बताया है। बहरहाल जो भी हुआ उसको लेकर मंदिर के कर्मचारियों में भी अलग अलग गुट बने हुए हैं। किसी का कहना है कि धाकड़ अच्छा काम कर रहे थे तो कई उनके कार्यकाल की भत्र्सना करते दिखे। ज्ञातव्य रहे कि पूर्व प्रशासक को सहायक संचालक वित्त एवं कोष के पद पर उज्जैन में ही पदस्थ किया गया है।

नवागत प्रशासक ने देररात दर्शन के बाद कामकाज संभाला

श्री महाकालेश्वर मंदिर के प्रशासक के पद पर पदस्थ हुए अपर कलेक्टर संदीप कुमार सोनी ने ताबड़तोड़ बुधवार रात को ही उज्जैन पहुंचकर भगवान महाकाल के दर्शन के बाद कार्यभार संभाल लिया। जानकारी में आया है कि वरिष्ठ अधिकारी चाहते थे कि प्रधानमंत्री के आगमन की तैयारियां तुरंत शुरू हो जाएं। अन्यथा गुरुवार को सुबह उनके द्वारा पदभार ग्रहण किया जाता। वैसे भी रात के समय पदभार ग्रहण करने की परंपरा नहीं है। चर्चा के दौरान उन्होंने इतना ही कहा कि भगवान महाकाल ने सेवा का अवसर दिया है। भगवान महाकाल की सेवा करना और बाबा के जो सेवक हैं, उनकी सेवा करना एक मात्र उद्देश्य है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

इंदौर रोड पर 2 दुकानों में छत के रास्ते चोरों का धावा

Thu Sep 22 , 2022
एक दुकान में हुआ प्रयास, फुटेज आया सामने उज्जैन, अग्निपथ। चोरों ने बुधवार-गुरुवार रात इंदौररोड पर 2 दुकानों में छत के रास्ते धावा बोलकर लाखों का माल साफ कर दिया। एक दुकान का ताला तोडऩे का प्रयास भी किया। वारदात की जानकारी लगने पर पुलिस मौके पर पहुंची थी। माधवनगर […]